इतने आरोपों के बाद भी उत्तर प्रदेश की सरकारें अरुण मिश्र का कुछ बिगाड़ क्यों नहीं पाती हैं?

                खास रिपोर्ट /गोविंद पंत राजू लखनऊ : विकास की दौड़ में उत्तर प्रदेश भले ही कोई उपलब्धि हासिल न कर पा रहा Continue Reading

Posted On :

SC ने ‘द वायर’ को जय शाह से कोर्ट के बाहर समझौता करने का दिया सुझाव

नईदिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को ‘द वायर’ के वकील को सुझाव दिया है कि वह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह से उस रिपोर्ट पर कोर्ट Continue Reading

Posted On :

कोबरापोस्ट का ख़ुलासा, पैसे के एवज़ में ख़बरें छापने को राज़ी दिखे देश के कई मीडिया हाउस

अपनी खोजी पत्रकारिता के लिए पहचाने जाने वाले कोबरापोस्ट के हालिया खुलासे ने देश के मीडिया जगत की पोल खोल कर रख दी है. कोबरापोस्ट ने ‘ऑपरेशन 136’ के नाम Continue Reading

Posted On :

इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद : इसके कारनामे जानकर आप भी मानेंगे इसका लोहा

इजरायल की पीएम बेंजामिन नेतान्याहू भारत के दौरे के दौरान दोनों देशों के बीच कई करार हुए हैं। इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद और भारत की रॉ के बीच सुरक्षा Continue Reading

Posted On :

पत्रकारिता की विकृतियों और विचलनों की जड़ में क्या ?

सवाल यह है कि पत्रकारिता की विकृतियों और विचलनों की जड़ में क्या है? जब अखबार/चैनल का प्रबंधन खुद पेड न्यूज में संलग्न हो तो पत्रकार की व्यक्तिगत ईमानदारी का क्या मतलब रह Continue Reading

Posted On :

खोजी पत्रकारिता बनाम स्टिंग

खोजी पत्रकारिता का नाम जहन में आते ही सबसे पहले आज हमारे जहन में स्टिंग का नाम सबसे पहले उभरता है। स्टिंग शब्द का नाम लेते ही हमारे सामने हाल Continue Reading

Posted On :

खोजी पत्रकारिता

मनुष्य स्वभाव से ही जिज्ञासु होता है। उसे वह सब जानना अच्छा लगता है जो सार्वजनिक नहीं हो अथवा जिसे छिपाने की कोशिश की जा रही हो। मनुष्य यदि पत्रकार Continue Reading

Posted On :

खोजी पत्रकारिता की असलियत

कहने को हमारे बड़े-बड़े अखबार और टीवी चैनल न्यूयॉर्क टाइम्स, वाशिंगटन पोस्ट या सीएनएन या बीबीसी से खोजी पत्रकारिता में तुलना करना चाहते हैं। मगर खोजी पत्रकारिता तो दूर, देश Continue Reading

Posted On :

खोजी पत्रकारिता क्या अब भी संभव है

पिछली सदी के सातवें दशक में ‘वाटरगेट कांड’ ने दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका के राष्ट्रपति निक्सन को अपनी गद्दी छोड़ने को मजबूर कर दिया, पर कांड को उजागर Continue Reading

Posted On :

माता हारी : एक खतरनाक महिला जासूस

जासूसी की दुनिया में हमेशा मर्दों का नाम ही आगे रहा है. इस पेशे में महिला जासूसों को कम ही देखा और सुना गया है, लेकिन इतिहास में कुछ महिलाओं Continue Reading

Posted On :

खोजी पत्रकारिता : चुनौतियां और जोखिम भरा पत्रकारिता

दूर के ढोल सुहावने होने ‘की कहावत खोजी पत्रकारिता पर सोलहों आने लागू होती है. यदि आप सत्ताधीशों से मेलजोल रखना चाहते हैं, “पेज थ्री” पार्टियों में आमंत्रित होना चाहते Continue Reading

Posted On :

जासूसी : रोमांच व जोखिम भरा काम ,कैसी है जासूसों की दुनिया

जासूसी का पेशा रहस्य-रोमांच के कथाजगत का नहीं, बल्कि मूलत: असली दुनिया का हिस्सा है। आज बड़े व छोटे शहरों में प्राइवेट जासूसी संस्थाएं सुरक्षा, निगरानी, लापता व्यक्तियों की खोज Continue Reading

Posted On :

ख़ुफ़िया एजेंसियाँ कैसे करती है जासूसी ?

ग़ैर क़ानूनी गतिविधियों का पर्दाफ़ाश करने वाले यानी विसलब्लोअर एडवर्ड स्नोडेन के लीक दस्तावेज़ बताते हैं कि अमरीका ने किस तरह से बड़े पैमाने पर पूरी दुनिया में ख़ुफ़िया अभियान Continue Reading

Posted On :

क्या है जासूसी ,कैसे होती है जासूसी ?

जासूसी किसी देश की सरकार, पॉलिटिकल पार्टी, कॉरपोरेट हाउस, परिवारों और एक खास व्यक्ति तक की हो सकती है। पहले पर्सनल छान-बीन करना जासूसी का तरीका होता था।  लेकिन समय Continue Reading

Posted On :