भोपाल : मध्य प्रदेश में महिलाओं के साथ उत्पीड़न के मामले हर दिन बढ़ते ही जा रहे है। लेकिन इस बार सूबे की चौहान सरकार के मुख पर जो कालिख लगी है उसे शायद ये सरकार कभी न धो पाये। जी हां, मध्य प्रदेश में मंदिर के भीतर एक युवती के साथ सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है। जिस मंदिर में लोग रक्षा के लिए जाते हैं और आत्म शुद्धि कर प्रयत्न करते हैं। उसी मंदिर में मानवता का चीर हरण करते हुए तीन दरिंदों ने एक युवती के बलात्कार की घटना को अंजाम दिया है। जानिए क्या है पुरा मामला —

दरअसल ये मामला मध्य प्रदेश के धामनोद इलाके का है। जहां पर एक 23 साल की युवती एक मंदिर में अपने किसी मित्र से मिलने गयी थी। वो मंदिर में उसका इंतजार कर रही थी। इसी दौरान एक युवक उसके पास आया और उसके मंदिर में इस तरह अकेले बैठने का कारण पुछा। उस दरिंदे की गंदी नियत से नावाकिफ युवती ने उसे बताया कि, वो किसी का इंतजार कर रही है। जिसके बाद उस युवक ने उसे कहा कि, आप मंदिर के भीतर बैठ जायें वो ज्यादा सुरक्षित रहेगा।

जब युवती मंदिर के भीतर गई तो उस दरिंदे ने मंदिर का दरवाजा चेन से बंद कर दिया। इस दौरान उसने फोन करके अपने दो और साथियों को भी बुला लिया। तीनों जब मंदिर पर इकट्ठा हो गयें तो उन्होनें बारी बारी से उस युवती के साथ दुष्कर्म किया। धर्म के पट्ट पर अ​र्धम का खेल खेलने के बाद ये तीनों युवती को बदहवाश हालत में छोड़कर फरार हो गये।

जब लड़की थोड़ी सजग हालत में आई तो उसने अपने एक दोस्त को फोन करके घटना की सूचना दी। उसके दोस्त ने फोन कर के मौके पर पुलिस को बुलाया। पीड़िता ने पुलिस को अपनी आप बिती बतायी। इसी दौरान लड़की को उस बाइक का भी याद आया जिस पर बैठकर तीनों युवक भागे थें। उस बाइक पर एक स्टीकर लगा था। जिस पर ‘संजू बाबा’ लिखा था। ​लड़की ने उस बाइक के बारे में भी पुलिस को बताया।

पुलिस ने तत्काल अपने मुखबिरों को सजग कर दिया, और जल्द ही उस बाइक को खोज निकाला। बाइक मिलने के बाद उसका मालिक संजय पटेल भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। जिसके बाद पुलिस की कड़ी पुछताछ में संजय ने अपने दो अन्य साथियों अखिलेश पटेल और महादेव पाटीदार के बारे में बताया। जिसके बाद पुलिस ने उन दोनों को भी गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल पुलिस ने तीनों के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कर लिया है और तीनों को जेल भेज दिया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *