लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में सदर संसदीय सीट पर होने वाले उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी को करारी शिकस्त मिल रही है। वोटों की गिनती जारी है और 10 राउंउ की गिनती पूरी हो चुकी है। लेकिन इसी बीच गोरखपुर के जिलाधिकारी ने कुछ ऐसा कर दिया जिससे वो सवालों के घेरे में आ चुके है। वोटों की गिनती के दौरान डीएम ने नतीजों की घोषणा ही रोक दी।

बताया जा रहा है कि, गोरखपुर में जब वोटों की गिनती शुरू हुई तो भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार उपेंद्र दत्त शुक्ला पिछड़ गये थें। इसी वजह से जिलाधिकारी ने नतीजों की घोषणा को रोक दिया। ये भी खबर है कि, गोरखपुर में दूसरे राउंड के मतगणना के बाद ही समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार प्रवीण निषाद ने बढ़त बना ली थी और यही वजह है कि डीएम राजीव रौतेला ने नतीजों की घोषणा पर रोक लगा दी।

वोटों की काउंटिंग के दौरान जिलाधिकारी ने मीडिया को भी मतगणना केंद्र के भीतर जाने पर रोक लगा दिया। इस बात को लेकर विपक्ष ने विधानसभा में भी हंगामा किया, जिसके बाद महज 10 मिनट में ही विधानसभा की कार्यवाही स्थगित कर दी गई। जब विपक्ष ने सड़क से लेकर संसद तक जिलाधिकारी की कार्यवाही पर हंगामा किया तो खुद डीएम राजीव रौतेला ने खुद दूसरे, तीसरे और चौथे राउंड के नतीजों की घोषणा की।

वहीं इस पूरे मामले मे राजीव रौतेला का कहना है कि, ये सब कुछ नियमों के अनुसार किया जा रहा है। डीएम ने कहा है कि, ऑब्जर्वर द्वारा साइन न किए जाने के कारण ही चुनाव नतीजों का ऐलान नहीं किया जा रहा था। इसमें कुछ भी नियमों के खिलाफ नहीं किया गया है। जब तक आॅब्जर्वर अपना आखिरी हस्ताक्षर नहीं कर देता है तब तक हम नतीजों की घोषणा नहीं कर सकते है।

जिलाधिकारी द्वारा वोटों की गिनती के नतीजों की घोषणा पर रोक लगाये जाने के मामले को लेकर विपक्ष धांधली बता रहा है। विपक्ष का कहना है कि, ये सब कुछ योगी सरकार के इशारे पर किया जा रहा है। जब भारतीय जनता पार्टी का उम्मीदवार वोटों की गिनती में पिछड़ा तब जिलाधिकारी ने नतीजों की घोषणा पर रोक लगाई।

वहीं वरिष्ठ पत्रकार शरद प्रधान ने कहा कि जिलाधिकारी राजीव रौतेला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के करीबी माने जाते है। ये वही जिलाधिकारी है जब गोरखपुर में आॅक्सिजन की कमी से बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत हुई थी। उस वक्त सरकार ने जिले से जुड़े तमाम अधिकारियों पर कार्यवाही की थी लेकिन राजीव रौतेला के खिलाफ कोई भी कार्यवाही नहीं की गई थी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *