नई दिल्ली। पोलैंड का क्रुक्ड फॉरेस्ट ऐसा है जहाँ एक भी पेड़ सीधे नहीं हैं। इस अजब-गजब की दुनिया मैं कई ऐसे रहस्य हैं जो अभी तक सुलझा नहीं पाया है। पोलैंड के क्रुक्ड फॉरेस्ट में करीब 400 पेड़ 90 डिग्री पर मुड़े हुए हैं। यह जंगल नोवे सजारनोवो गांव के पास स्थित है।

द्वितीय विश्वयुद्ध की शुरुआत से पहले इन पेड़ों को लगाया गया था। सभी पेड़ एक खास तरीके से मुड़े हुए हैं। ये आधार से 90 डिग्री पर मुड़ जाते हैं और 3 से 9 फुट तक ऐसे ही रहने के बाद फिर ऊपर की तरफ बढ़ते हैं।

पेड़ों के ऐसे रूप के पीछे कई कारण बताए जाते हैं। आइये जाने वहाँ के लोगों का क्या कहना है –

१. कुछ लोगों का कहना है कि दूसरे ग्रहों से आए प्राणियों ने एेसा किया है।

२. कुछ लोगों का कहना है कि इस जगह पर गुरुत्वाकर्षण बल दूसरी जगहों से ज्यादा है, जिसकी वजह से पेड़ इस तरह मुड़ गए।

३. कुछ लोगों का कहना है कि जब यहां करीबी गांव के निवासियों ने पौधे लगाए थे, उसके कुछ समय बाद ही द्वितीय विश्वयुद्ध शुरू हो गया था। इस दौरान फॉरेस्ट के पास से गुजरने वाले टैंकों के प्रभाव से पेड़ मुड़ गए। इस बात को पचा पाना बड़ा ही मुश्किल है।

४. कुछ लोगों का ऐसा भी मानना है कि स्थानीय निवासियों ने खास तरह के फर्नीचर बनाने के लिए इन पेड़ों को विशेष उपाय करके मोड़ा था। लेकिन दूसरा विश्वयुद्ध शुरू हो जाने के बाद अफरा-तफरी मच गई और फर्नीचर के लिए इनका उपयोग नहीं हो पाया।

५.कुछ लोगों का कहना है कि ये पेड़ जब पौधों के रूप में थे, तो थोड़ा बढ़ने के बाद किसी वजह से छतिग्रस्त हो गए, इसलिए बेस के पास से मुड़ गए हैं।

चाहे जितनी भी थ्योरीज दी गई हों लेकिन उनसे सही कारणों का पता नहीं चल पाया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *