रायगढ़ दौरे पर आए सीएम ने पत्रकारों से यहां अनौपचारिक चर्चा में कहा कि पत्थलगड़ी की घटना के पीछे धर्मांतरण कराने वाली ताकतें काम कर रहीं हैं। कैथोलिक मिशन की ओर इशारा करते हुए सीएम ने कहा कि जो लोग सांसद साय को इसमें दोषी बता रहे हैं। उन्हें समझना चाहिए कि इसमें जो किया है, वो वहां मौजूद भीड़ एवं जनता ने किया है। वैसे भी यह घटना असंवैधानिक है।

रायगढ़ :  पत्थलगड़ी मामले में मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि जशपुर में हुए इस विवाद के पीछे धर्मांतरण कराने वाले लोगों के हाथ हैं। कैथोलिक मिशन की ओर इशारा करते हुए सीएम ने कहा कि जो लोग सांसद साय को इसमें दोषी बता रहे हैं। उन्हें समझना चाहिए कि इसमें जो किया है, वो वहां मौजूद भीड़ एवं जनता ने किया है। वैसे भी यह घटना असंवैधानिक है।

उल्लेखनीय  है कि जशपुर में आदिवासियों का पत्थलगड़ी अभियान पूरे देश  में चर्चा का विषय बना है। 28 अप्रैल को केन्द्रीय राज्य मंत्री के नेतृत्व में भाजपा ने यहां जनसद्भावना यात्रा निकाली थी। इसके बाद भीड़ ने बगीचा विकासखंड के ग्राम बटूंगा में पत्थलगड़ी को तोड़ दिया था। इससे यहां हालात बेकाबू हो गए और पत्थलगड़ी का समर्थन कर रहे लोगों ने पथराव कर यहां तैनात पुलिस विभाग के अधिकारियों व जवानों को को बंधक बना लिया था, जिसे देर रात आईजी सरगुजा की समझाइश पर छोड़ा गया।

इस मामले में कांग्रेस ने केन्द्रीय राज्यमंत्री एवं सांसद विष्णुदेव साय प्रहार करते  हुए भाजपा पर आदिवासियों के प्रति दोहरी नीति अपनाने का आरोप लगाया। इसी बीच अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष नंदकुमार साय द्वारा पत्थलगड़ी अभियान का शुभारंभ किए जाने का वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो गया। नन्द कुमार साय ने भी पत्थलगड़ी अभियान को सही कह दिया | इससे भाजपा बैकपुूट पर आ गई।

अब इस मामले में पहली बार सरकार ने चुप्पी तोड़ी है और मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने केन्द्रीय राज्य मंत्री का बचाव किया है। रायगढ़ दौरे पर आए सीएम ने पत्रकारों से यहां अनौपचारिक चर्चा में कहा कि पत्थलगड़ी की घटना के पीछे धर्मांतरण कराने वाली ताकतें काम कर रहीं हैं। कैथोलिक मिशन की ओर इशारा करते हुए सीएम ने कहा कि जो लोग सांसद साय को इसमें दोषी बता रहे हैं। उन्हें समझना चाहिए कि इसमें जो किया है, वो वहां मौजूद भीड़ एवं जनता ने किया है। वैसे भी यह घटना असंवैधानिक है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *